Here you will learn about the definition of Adverb in Hindi, types of an adverb in Hindi and their formation with their examples. This information helps you to learn English properly. In fact, I personally use to improve my English.

Adverb meaning in Hindi:- साधारण अर्थ में क्रिया की षता बतानेवाले शब्द को क्रियाविशेषण कहते हैं। परंतु इसमें वे सभी शब्द शामिल हैं, जो किसी Verb, Adjective या दूसरे Adverb के अर्थ में बदलाव लाते हैं,

(Example)जैसे :

Satish goes quickly. (quickly – modifying verb goes)

That is a very sour fruit. ( very – modifying adjective sour)

I laughed quite loudly. (quite-modifying adverb loudly)

Kinds of Adverb in Hindi (क्रिया विशेषण के प्रकार)

  • Simple Adverb (सामान्य क्रियाविशेषण)
  • Relative Adverb (सहसंबंधवाचक)
  • Interrogative Adverb (प्रश्नवाचक)
  1. Simple Adverb in Hindi (सामान्य क्रियाविशेषण)
  2. Adverb of Place (स्थानवाचक

जैसा कि नाम से स्पष्ट है, ये स्थान बताते हैं अर्थात् कहाँ (where), जैसे -up, down, here, there, in, out आदि।

Examples:-

Go there. (वहाँ जाओ)

Come in. (यहाँ आओ)

Is Sheetal in? (क्या शीतल अंदर है?)

  1. Adverb of Time (कालवाचक)

कब (when) –का उत्तर होते हैं,

(Example) जैसे :

Today, tomorrow, now, ago, soon, before, yesterday, never, etc. (He had done it before.)

  1. Adverb of Manner (ढंगवाचक

ये शब्द कैसे (how)-तथा किस प्रकार से (in what manner) –दरशाते हैं,

(Examples) जैसे :

Clearly, hard, well, quickly, slowly, bravely, soundly, etc. (Rina reads clearly.)

  1. Adverb of Frequency (बारंबारतावाचक)

ये शब्द बारंबारताकितनी बार (how often) – दर्शाता हैं,

(Examples) जैसे:

Thrice, once, often, twice, always, again, seldom, frequently, etc. (I have met him twice.)

  1. Adverb of Degree or Quantity ( परिमाण या मात्रावाचक)

ये शब्द कितना (how much)- तथा किस स्तर (degree or extent) – को दरशाते हैं,

(Example) जैसे :

Almost, fully, so, quite, partly, rather, any, etc. (The game was rather dull.)

  1. Adverb of Affirmation

ये स्वीकारोक्ति की जानकारी देते हैं,

(Example) जैसे :

Luckily, probably, certainly, possibly, etc. (I shall certainly go.)

इनके अलावा भी Adverb of Reason, Adverb of Negation होते हैं।

  1. Relative Adverb in Hindi (सहसंबंधवाचक)

वह क्रियाविशेषण जो अपने से पूर्व प्रयुक्त शब्दों की ओर इंगित करते हुए कब, कहाँ और क्यों (When, Where and Why) – बताता है,

Examples जैसे :

Let me know when he will return. (Time) – मुझे बताओ, वह कब लौटेगा (समय)

This is the city where we shall meet again. (Place) –यह वह शहर है, जहाँ हम फिर से मिलेंगे (स्थान)

This is the cause why Mohan did not go. (Reason)- यह कारण है कि मोहन नहीं गया (कारण) |

  1. Interrogative Adverb in Hindi (प्रश्नवाचक)

यह Adverb प्रश्न पूछने का कार्य करता है तथा किसी वाक्य की शुरुआत में आता है,

(Examples) जैसे :

How far, how many, how much, when, why, where, etc. 

How many girls are there in your class? तुम्हारी कक्षा में कितनी लड़कियाँ हैं?

Why are you sad? तुम उदास क्यों हो?

When will you go there? तुम वहाँ कब जाओगे?

Where is Mathura Prasad? मथुरा प्रसाद कहाँ है?

Formation of Adverb in Hindi (क्रियाविशेषण का निर्माण)

कुछ शब्द ऐसे होते हैं जिन्हें कभी Adjective (विशेषण) तथा कभी Adverb (क्रियाविशेषण) की तरह प्रयोग किया जाता है। वाक्य में उनकी स्थिति देखकर उनकी Category (श्रेणी) निर्धारित होती है।

Adverb मुख्यतः इस प्रकार से बनाए जाते हैं :

From Adjective (विशेषण से), जैसे :

Kind Kindly Quick Quickly Beautiful Beautifully Regular Regularly Ready Readily Nice Nicely

From Nouns and Adjectives, जैसे :

Yesterday, meantime, otherwise,

sometimes, midway, etc.

From Compounded Prepositions, जैसे : Therewith, thereof, thereon, thereby, thereto, etc.

Herewith, hereby, hereafter, herein, etc.

Henceforth, henceforward, forward, etc.

From Adverbs when joined by and, जैसे :

Again and again By and by

Far and wide Far and near

Now and then Off and on

Out and out Over and above, etc.

विशेषणों (Adjectives) – की तरह कुछ क्रिया विशेषणों (Adverb) –की भी डिग्रियाँ होती हैं, जिन्हें वाक्यों में प्रयुक्त किया जाता है। लेकिन Adverb of Manner, Degree and Time में ही ये डग्रीयं प्रयोग में लाई जाती हैं।

Adverb (Degree of Comparison) 

Positive Comparative Superlative

 

Fast faster fastest
Hard harder hardest
Near nearer nearest
Long longer longest
Soon sooner soonest

 

Quickly more quickly most quickly
Skilfully more skilfully most skilfully
Swiftly more swiftly most swiftly

 

bad worse worst 
Much more most
Near nearer nearest
Late later latest
Well/good better best

Position of Adverbs in Hindi (वाक्य में क्रियाविशेषण का स्थान)

  1. ढंगवाचक (Manner)-क्रियाविशेषण सामान्यतया क्रिया के बाद (यदि कर्म हो); यदि कर्म हो तो कर्म (object)- के बाद आता है,

(Example)जैसे :

He works carefully.

वह सावधानी से काम करता है। (carefully)

He ran fast.

वह तेज दौड़ा। (fast)

The boat is going slowly.

नाव धीरे चल रही है। (slowly)

She speaks Hindi fluently. वह धाराप्रवाह हिंदी

बोलती है। (fluently)

  1. स्थानवाचक समयवाचक क्रियाविशेषण भी क्रिया अथवा कर्म (यदि कर्म हो तो) के बाद आते हैं,

(Example) जैसे :

He will go there.

वह वहाँ जाएगा। (there)

We shall meet him tomorrow.

हम उससे कल मिलेंगे। (tomorrow)

He was searching us everywhere.

वह सब जगह हमें ढूँढ़ रहा था। (everywhere)

It will be done next Monday.

यह अगले सोमवार को होगा। (next Monday)

  1. यदि वाक्य में एक से अधिक क्रियाविशेषण क्रिया के बाद आएँ तो उनका क्रम होगा Manner (ढंग), Place (स्थान), Time (समय),

(Example) जैसे :

They will come here tomorrow morning. 

वे कल सुबह यहाँ आएँगे। (here, tomorrow morning)

We acted wisely in the drama last night.

कल रात नाटक में हमने बड़ी होशियारी से अभिनय किया। (wisely, in the drama, last night)

लेकिन इसके अपवाद भी हैं।

  1. बारंबारतावाचक (Adverb of Frequency) को सामान्यतया कर्ता तथा क्रिया के बीच में रखते हैं, लेकिन यदि क्रिया (Verb)-में एक से अधिक शब्द हों तो क्रिया के पहले शब्द के बाद इसे रखा जाता है,

(Example) जैसे :

I usually have time. my dinner at appropriate

मैं शाम को भोजन प्रायः सही समय पर करता हूँ। (usually)

You never went there.

तुम वहाँ कभी नहीं गए।(never)

We have just left that place.

वह स्थान हमने अभी छोड़ा है। (just)

She has often asked him to keep quiet.

उसने अकसर उसे शांत रहने के लिए कहा है। (often)

  1. यदि वाक्य में सहायक क्रिया is, am, are, was, were का प्रयोग मुख्य क्रिया के रूप में हुआ हो तो Adverb इसके तुरंत बाद रखा जाता है,

(Example) जैसे :

He is always ready to go out.

बाहर जाने के लिए वह हमेशा तैयार है। (always)

We never reach late for our duty.

हम अपने काम पर कभी देर से नहीं पहुंचे हैं। (never)

सहायक तथा मुख्य क्रिया के साथ प्रयुक्त होने पर Adverb सहायक मुख्य क्रिया के बीच में आते हैं,

(Example) जैसे :

They have always guided us. उन्होंने हमेशा हमारा मार्गदर्शन किया है। (always )

He has never asked me so. उसने ऐसा मुझसे कभी नहीं कहा है। (never)

  1. वाक्यवाचक (Adverb of Sentence) : इन्हें अकसर वाक्य के प्रारंभ में प्रयोग किया जाता है,

(Example) जैसे :

Perhaps, he had gone out.

शायद वह बाहर चला गया था।

Unfortunately, you did not carry out my command.

दुर्भाग्यवश तुमने मेरा आदेश नहीं माना।

  1. Have to एवं used to के मामले में Adverb इनसे पहले रखा जाता है,

(Example) जैसे :

We often have to go to market.

हमें अकसर बाजार जाना पड़ जाता है। (often)

You always used to follow me.

तुम हमेशा मेरा अनुसरण करते थे। (always)

  1. लेकिन enough शब्द उस शब्द के बाद रखा जाता है जिसे यह modify करता है,

(Example) जैसे:

The milk is cold enough.

दूध काफी ठंडा है। (modifying cold)

She is rich enough to buy a car.

वह कार खरीदने के लिए काफी धनवान् है। (rich)

  1. Only को अधिकतर उस शब्द से पूर्व रखा जाता है, जिसे यह modify करता है,

Example जैसे

He works only on Sunday. वह केवल रविवार को काम करता है।

It is the only way to get out. बाहर निकलने का यह एकमात्र मार्ग है।

Also Read:-

Definition of Verb in Hindi with Types, Examples, 251+ Verb List

https://www.youtube.com/watch?v=3CqiKFjuS7A

I hope you understood what is an adverb in Hindi, the types of adverb, the forms of adverb and the position of adverb with their examples. I’m sure it will help you to learn English easily. For more information about the Adverb, you can check out the Wikipedia website.