MS Word in Hindi:- अगर आप भी जानना चाहते हैं की माइक्रोसॉफ्ट वर्ड (MS Word in Hindi) के बारे में वो भी हिंदी में तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पे आए हैं यहाँ आपको मैं पूरी जानकारी मिलेगी की एम एस वर्ड क्या है (What is MS Word in Hindi) और आप इसे कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं वो भी संछेप में।

MS Word in Hindi 

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड क्या है? (Microsoft Word in Hindi)

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड या एम एस वर्ड विश्व का सर्वाधिक उपयोग होने वाले वर्ड प्रोसेसिंग सिस्टम या वर्ड प्रोसेसर की श्रृंखला है, जिसका विकास माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन द्वारा किया गया है

माइक्रोप्रो (MicroPro) कम्पनी द्वारा सन् 1978 में विश्व के प्रथम वर्ड प्रोसेसर वर्डस्टार के विकास के बाद माइक्रोसॉफ्ट ने इसी तकनीक को आगे बढाते हुए सन् 1983 में मल्टीटूल वर्ड Multitool Word) को जेनिक्स (Xenix) ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए किया गया था (नोट: जेनिक्स माइक्रोसॉफ्ट तथा AT&T द्वारा विकसित किया गया यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का एक संस्करण था)

इसके पश्चात् मल्टीटूल वर्ड को माइक्रोसॉफ्ट के एक कर्मचारी तथा एम एस वर्ड के डेवलपर रिचर्ड ब्रॉडी (Richard Brodie) द्वारा माइक्रोसॉफ्ट वर्ड नाम दिया गया।

वर्तमान समय में इस प्रोसेसिंग सिस्टम का उपयोग विंडोज तथा मैकिन्टॉस (Macointosh) ऑपरेटिंग सिस्टम के लिये होता है। एम एस वर्ड का विंडोज के लिए रिलीज किया गया सबसे पहला संस्करण वर्ड 1.0 था जिसे नवम्बर 1989 में विंडोज 2.0 के लिये किया गया था तथा इसका नवीनतम संस्करण एम एस वर्ड  है जो विंडोज XP Service Pack2 or Later और विंडोज विस्टा के लिए विकसित किया गया है।

एम. एस वर्ड को विशेषताएँ (Features of MS Word in Hindi)

एक आदर्श डॉक्यूमेंट तैयार करने के लिए एम एस वर्ड, एक वर्ड प्रोसेसिंग सिस्टम के रूप में कई विस्तृत तथा उन्नत सुविधाएँ प्रदान करता है। इन सुविधाओं में से कुछ निम्न हैं:

स्पेलिंग तथा ग्रामर (Spelling and Grammar of MS Word in Hindi)

स्पेलिंग तथा ग्रामर एम एस वर्ड द्वारा प्रदान किया गया एक ऐसा टूल है जिसका उपयोग करके हम अपने डॉक्यूमेंट में की गयी स्पेलिंग तथा ग्रामर से सम्बन्धित गलतियों को सुधार सकते हैं।

उदाहरण के लिए, एक डाक्यूमेंट का निर्माण करते हुए यदि हमने Christ की स्पेलिंग Krist लिख दी, तो स्पेलिंग तथा ग्रामर टूल हमें इस गलती के लिये चेतावनी देगा।

ठीक इसी प्रकार से यदि हमने गलती से Mohit is going के स्थान Mohit are going लिख दिया है, तब भी हमें इस टूल के द्वारा चेतावनी प्राप्त होगी।

थीसॉरस (Thesaurus of MS Word in Hindi)

जब हम किसी शब्द का अर्थ जानना चाहते हैं, तो इस कार्य के लिये शब्दकोष का उपयोग कर सकते हैं। शब्दकोष का उपयोग करके हम सिर्फ किसी शब्द का अर्थ पता कर सकते हैं बल्कि उस शब्द के पर्यायवाची तथा विलोम शब्दों का भी पता कर सकते हैं।

ठीक यही कार्य एम एस वर्ड में थीसॉरस करता है, यह एक इलेक्ट्रॉनिक शब्दकोष है, जिसका उपयोग करके हम किसी शब्द (सामान्यत: अंग्रेजी शब्द) का अर्थ, उसके पर्यायवाची तथा विलोम शब्दों का पता लगा सकते हैं इसके अलावा हम थीसॉरस का उपयोग करके किसी अर्थ, पर्यायवाची तथा विलोम को वास्तविक शब्द के साथ परिवर्तित कर सकते हैं

शब्द गणना (Word Count of MS Word in Hindi)

एक डॉक्यूमेंट का निर्माण करते समय कई बार उस डॉक्यूमेंट में शब्दों की सीमा निर्धारित हो सकती है। ऐसी स्थिति में एम एस वर्ड में कोई डॉक्यूमेंट बनाते समय शब्द गणना नामक टूल हमारी काफी सहायता करता है।

इस टूल का उपयोग करके हम यह पता कर सकते हैं कि हमारे डॉक्यूमेंट में कितने पेज, पंक्तियाँ (Lines), पैराग्राफ (Paragraph) तथा शब्द (Word) है।

फाइन्ड तथा रिप्लेस (Find and Replace of MS Word in Hindi)

मान लीजिए, आपको मोहित नामक किसी व्यक्ति के ऊपर 100 पेजों का एक डॉक्यूमेंट तैयार करने के लिये दिया गया है। आपने अपना कार्य तो पूर्ण कर दिया लेकिन इस दौरान आपने एक गलती कर दी,

वह यह कि पूरे डॉक्यूमेंट में आपने मोहित के स्थान पर हिमांशु लिख दिया हैं। इस स्थिति में एम एस वर्ड को जो कमांड आपको सहायता कर सकती है, वह है फाइन्ड तथा रिप्लेस।

इस कमांड का उपयोग करके हम गलत शब्द अर्थात् हिमांशु को पूरे डॉक्यूमेंट में से वास्तविक शब्द मोहित के साथ प्रतिस्थापित कर सकते हैं, वह भी एक साथ।

मैक्रो (Macro of MS Word in Hindi)

एम एस वर्ड में किसी डॉक्यूमेंट का निर्माण करते समय सामान्यतः हमें किसी अक्षर, शब्द या वाक्य या फिर किसी कमांड की पुनरोक्ति करनी पड़ती है।

वाक्यों को हम अपनी सुविधानुसार कॉपी या कट करके वर्तमान डॉक्यूमेंट या किसी अन्य डॉक्यूमेंट में पेस्ट कर लेते हैं। निधियों यदि किसी कारणवश हमारा कम्प्यूटर बंद हो जाये तो हम उस वाक्य को दुबारा कॉपी या कट करना पड़ेगा।

ऐसी परिस्थिति में मैक्रो हमारी सहायता करता है। मैक्रो का उपयोग करके हम अपने डॉक्यूमेंट के किसी कार्य की रिकॉर्डिंग कर सकते हैं, जिन्हें हम भविष्य में कभी भी किसी भी एम एस वर्ड डॉक्यूमेंट में उपयोग कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, कम्प्यूटर में कोई डॉक्यूमेंट निर्मित करते समय हमें हिन्दी तथा अंग्रेजी फॉन्ट का उपयोग बारबार करना पड़ सकता हैं।

ऐसी स्थिति में हम टाइम्स न्यू रोमन (Times New Roman) तथा क्रुती देव (Kruti Dev) फॉन्ट के लिए एक शॉर्टकट कुंजी का निर्माण मैक्रो की सहायता से कर सकते हैं।

मेल मर्ज (Mail Merge of MS Word in Hindi)

मेल मर्ज एम एस ऑफिस में प्रदान किया गया एक सॉफ्टवेयर फंक्शन है, जिसका प्रयोग कई डॉक्यूमेंट्स (सामान्यत: बड़े डॉक्यूमेंट्स) को एक टेम्प्लेट तथा डाटा स्रोत के साथ सम्बद्ध करने के लिए किया जाता है।

मेल मर्ज का वृहदृ रूप से प्रयोग सामूहिक प्रचार . के क्षेत्र में होता हैं। इसके कार्य को हम इस साधारण उदाहरण से समझते हैं: मान लीजिए,

आप किसी संस्था में कार्य करते हैं जहाँ आपसे कहा जाता है कि आपको संस्था से सम्बन्धित एक डॉक्यूमेंट संस्था में कार्यरत सभी कर्मचारियों को भेजना है।

इस स्थिति में आपके पास दो विकल्प है, पहला कि प्रत्येक कर्मचारी के लिये उस डॉक्यूमेंट्स का अलगअलग निर्माण किया जाये तथा दूसरा कि मैल मर्ज का प्रयोग करके एक डॉक्यूमेंट तथा डाटा स्त्रोत से उन सभी कर्मचारियों को प्रेषित कर दें।

एम एस वर्ड मेज मर्ज के लिये आवश्यक सभी कमांड्स को सरलतापूर्वक एक्सेस करने में आपकी सहायता करता है। ये सभी कमांड्स आपको रिबन के मेलिंग्स (Mailings) टैब में प्राप्त होगा।

तालिका (Tables of MS Word in Hindi)

एम एस वर्ड में तालिका का निर्माण करना अत्यंत सरल हैं। एम एस वर्ड में आप तालिका का चित्रण कर सकते हैं साथ ही साथ आप अपनी आवश्यकतानुसार तालिका डायलॉग बॉक्स का प्रयोग करके भी तालिका का निर्माण कर सकते हैं,

जिसमें आपकी केवल पंक्तियों तथा कॉलम्स की संख्या निर्दिष्ट करनी पड़ती हैं। इसके पश्चात् वर्ड स्वत : तालिका का निर्माण उस स्थान पर कर देता है जहाँ कर्सर उपस्थित हैं। Imert Ta

टेक्स्ट फॉर्मेटिंग (Text formatting of MS Word in Hindi)

एम एस वर्ड में आप डॉक्यूमेंट में टाइप किये गये टेक्स्ट को विभिन्न प्रकार से फॉर्मेट कर सकते हैं अर्थात् उसे एक आकर्षक लुक दे सकते हैं।

आप अपने डॉक्यूमेंट के टेक्स्ट्स का फॉन्ट टाइप, साइज तथा कलर बदल लेते हैं, उन्हें अलाइन कर सकते हैं, उनके लिए विशेष प्रभावों का प्रयोग कर सकते हैं, बैकग्राउण्ड का उपयोग कर सकते हैं आदि।

मेन्यूबार के स्थान पर रिबन 

रिबन एम एस वर्ड विंडो के शीर्ष पर दिखायी देने वाला एक आयताकार पैनल है, जो काफी हद तक मेन्यूबार की तरह ही होता हैं। एक परंपरागत मेन्यूबार में जिस तरह से सभी कमांड अलगअलग मेन्यू में विभाजित होते हैं,

ठीक उसी प्रकार से रिबन में कमांडों को अलगअलग टैग में विभाजित किया गया हैं। एम एस वर्ड के रिबन में सात प्रकार के टैग होते हैं :

MS Word in Hindi 

Home: इस टैग में एम एस वर्ड में सामान्यत: उपयोग होने वाले टैग को सम्मिलित किया गया है, जैसे क्लिपबोर्ड (Clipboard), फॉन्ट (Font) पैराग्राफ (Paragraph), स्टाइल (Style) तथा एडिटिंग (Editing)

Insert: इस रिबन में उपलब्ध अधिकतर कमांड मेन्यूबार को कमांड की ही भांति होती हैं, जैसे हेडर तथा फूटर (Header & Footer), सिम्बल (Symbol), लिंक (Link), पिक्चर (Picture) आदि।

Page Layout: इस टैग में पेज को रूपरेखा तथा पेज सेटअप से सम्बन्धित टूल्स मिलते है, जैसे थीम्स (Themes), पेज सेटअप (Pagesetup), पेज बैकग्राउण्ड (Page Background), पैराग्राफ (Paragraph) आदि।

Reference: इस टैग में हमें फूटनोट्स (Footnotes), साइटेशन तथा बिब्लिओग्राफी (Citation & Bibliography कैप्सन (Caption), इन्डेक्स (Index) आदि टूल्स मिलते हैं।

Mailings: इस टैग में मेल मर्ज से सम्बन्धित कमांइस होती हैं, जैसे निर्माण (Creation), रिजल्ट (Result) आदि।

Review: इस टैग में उपलब्ध ज्यादातर कमांड्स टूल्स मेन्यूबार के टूल मेन्यू के समान है, जैसे थीसॉरस (Thesaurus), स्पेलिंग तथा ग्रामर (Spelling and Grammar), प्रोटेक्ट (Protect) आदि।

view: इस टैग में उपस्थित ज्यादातर कमांड व्यू मेन्यू की कमांडो के समान होते हैं, जैसे डॉक्यूमेंट व्यू (Document Views), जूम (Zoom) आदि।

क्विक एक्सेस टूलबार (Quick Access Toolbar of MS Word in Hindi)

MS Word in Hindi 

क्विक एक्सेस टूलबार एम एस वर्ड विंडो के टाइटल बार की बायीं और स्थित होता है, जिसका उपयोग हम स्टैण्डर्ड टूलबार की तरह करते तो परंतु इसमें हम अपनी आवश्यकतानुसार टूल्स को बढ़ा या घटा सकते हैं।

क्विक एक्सेस टूलबार में डिफॉल्ट रूप से सिर्फ तीन टूल ही होते हैं : सेव, अनडू (Undo)तथा रीडू (Redo), परंतु हम रीडू की दायीं और स्थित ऐरो कुंजी (Arrow Key) से इसमें अन्य टूल जोड़ भी सकते हैं, जैसे न्यू (New), ओपन (Open), क्विक प्रिन्ट (Quick Print), प्रिन्ट प्रीव्यू (Print Preview) आदि।

ऑफिस बटन (office Button of MS Word in Hindi)

मेन्यूबार के प्रथम मेन्यू फाइल मेन्यू के माइक्रोसॉफ्ट ने प्रतिस्थापित करके ऑफिस बटन को परिचित किया है। ऑफिस बटन परंपरागत फाइल मेन्यू में उपस्थित सभी कमांड तो प्रदान करती है, लेकिन यह सिर्फ यही तक ही सीमित नहीं है।

ऑफिस बटन का उपयोग करके हम अपने डॉक्यूमेंट को किसी यूजर के पास फैक्स कर सकते हैं, साथ ही साथ वेब स्पेस का उपयोग करके अपनी फाइल को पब्लिश भी कर सकते है। माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस बटन में हमें निम्न विकल्प मिलते हैं:

  • न्यू (New)
  • ओपन (open)
  • सेव (Save)
  • सेव ऐज (Save As)
  • प्रिन्ट (Print)
  • प्रिपेयर (Prepare)
  • सेण्ड (Share)
  • पब्लिशा (Publish)
  • क्लोज (Close)

स्मार्ट आर्ट (Smart Art of MS Word in Hindi)

स्मार्टआर्ट ग्राफिक्स या स्मार्टआर्ट यूजर को सूचनाओ तथा उसके सुझावो का एक विजुअल प्रदर्शन है, जिसे हम आसानी से निर्मित कर सकते हैं।

स्मार्टआर्ट एक पूर्वनिर्धारित ग्राफिक्स अवसंरचना को प्रस्तुत करता है, जिसका उपयोग करके हम किसी सूचना को एक फ्लोचार्ट के रूप में प्रतीति कर सकते है। स्मार्टआर्ट ग्राफिक्स डायलॉग बॉक्स इन सभी संरचनाओं को सात वनों में विभाजित करता है

  • लिस्ट (List)
  • प्रोसेस (Process)
  • चक्र (Cycle)
  • पदानुक्रम (Hierarchy)
  • सम्बन्थ (Relationship)
  • मैट्रिक्स (Matrix)
  • पिरामिड (Pyramid)

कुछ विशेष टैब (Some Special Tabs of MS Word in Hindi)

एम एस वर्ड 2007 में माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन ने मेन्यूबार के स्थान पर रिबन का उपयोग किया है यह हम सभी जानते हैं। इस रिबन में क्रमजश: सात प्रकार के टैब होते है: होम, इन्सर्ट, पेज लेआउट, रिफरेंस, मेलिंग्स, रिव्यू तथा व्यू।

इस सबके अतिरिक्त भी एम एस वर्ड 2007 हमें कुछ अतिरिक्त टैब प्रदान करता है। यहाँ इन्हें विशेष टैब इसलिए कहा गया है क्योकि यह कुछ विशेष परिस्थितियों में ही प्रदर्शित होते हैं।

उदाहरण के लिए, जब हम अपने डॉक्यूमेंट में कोई पिक्चर प्रविष्ट करते हैं तो ऐसा करते ही हमें व्यू टैब की दायीं और एक नया टैब फॉर्मेट (Format) कमाई टैब दिखायी देता हैं।

ठीक इसी प्रकार से डॉक्यूमेंट में एक टेबल प्रविष्ट करने पर हमें दो नये टैब डिजाइन (Design) तथा लेआउट (Layout) दिखायी देंगे।

एम एस वर्ड आरम्भ करना (Opening MS Word in Hindi)

अपने क्मप्यूटर पर एम एस वर्ड 2007 आरम्भ करने के लिए हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता है:

स्टार्ट (Start) बटन पर क्लिक करे या की बोर्ड से विंडो कुंजी दबायें।

एम एस ऑफिस पर जायें।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस वर्ड (Microsoft Office Word ) पर क्लिक करें।

कम्प्यूटर स्क्रीन पर आपको एम एस वर्ड विंडो दिखायी देने लगेगी

नये डॉक्यूमेंट का निर्माण करना (Creating a New Document of MS Word in Hindi)

Creating a New Document of MS Word in Hindi 

एम एस वर्ड में, एक वर्ड डॉक्यूमेंट का निर्माण करने के लिये हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता है :

ऑफिस बटन पर क्लिक कीजिए

New पर क्लिक कीजिए

ओपन हुए न्यू डॉक्यूमेंट (New Document) डायलॉग बॉक्स से ब्लैंक (Blank) डॉक्यूमेंट का चयन कीजिए

create पुश बटन पर क्लिक कीजिए।

इसके पश्चात् न्यू डॉक्यूमेंट विंडो ओपन हो जायेगी। हम अपनी आवश्यकतानुसार ब्लैंक डॉक्यूमेंट के स्थान पर मौजूद टेम्प्लेट्स (Templates) का भी उपयोग कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त एक ब्लैंक डॉक्यूमेंट का निर्माण करने के लिये हम कुछ अन्य विकल्पों का भी उपयोग कर सकते हैं, जैसे :

  1. क्विक एक्सेस टूलबार से न्यू डॉक्यूमेंट टूल यर क्लिक करके। या फिर
  2. Ctrl+N शॉर्टकट कमांड का उपयोग करके।

डॉक्यूमेंट को सुरक्षित करना (Saving a Document of MS Word in Hindi)

Saving a Document of MS Word in Hindi 

निर्मित किये गये डॉक्यूमेंट को भविष्य में भी उपयोग करते रहने के लिये यह परम आवश्यक होता है कि उस डॉक्यूमेंट को हार्डडिस्क में स्थान दे दिया जाये अर्थात् उसे सुरक्षित (Save) कर लिया जाये। अपने डॉक्यूमेंट को सेव करने के लिये हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता है।

ऑफिस बटन पर क्लिक कीजिए।

Save पर क्लिक कीजिए या Ctrl+S शॉर्टकट कुंजी का प्रयोग कीजिए या फिर क्विक एक्सेस टूलबार से सेव टूल पर क्लिक कीजिए।

ओपन हुए सेव ऐज (Save As) डायलॉग बॉक्स में तीन विकल्प मिलेंगे :

A File Name: इस विकल्प में हम फाइल का नाम टाइप करते है। यहाँ यह नोट करना आवश्यक है कि फाइल का नाम उसके डाटा से सम्बन्धित होना चाहिए।

Save As Type: इस विकल्प में हम यह निर्धारित करते है, कि हमारे डॉक्यूमेंट का प्रकार या विस्तारक (Extension) क्या होगा। विस्तारक कम्प्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को यह बतलाता है कि हमारी फाइल किस सॉफ्टवेयर से सम्बन्धित है।

एम एस वर्ड 2003 तक वर्ड डॉक्यूमेंट का विस्तारक .doc था, परंतु XML पर आधारित ऑफिस सुइट होने के कारण एम एस वर्ड में यह विस्तारक .docx हो गया है।

Save in: इसमें हम यह निर्धारित करते है कि हमारा डॉक्यूमेंट हार्डडिस्क के किस स्थान पर सुरक्षित होगा, जैसे माइ डॉक्यूमेंट, ड्राइव आदि।

Save पुश बटन पर क्लिक कीजिए

इसके बाद आपका डॉक्यूमेंट आपके कम्प्यूटर पर सेव ही जायेगा। इसके पश्चात् आप जब भी अपने इस डॉक्यूमेंट के संशोधित करे, आप चरण 1 तथा 2 की पुनरोक्ति कर इसे सुरक्षित करके उस संशोधन को सेव कर सकते हैं।

कई बार जब हम किसी फाइल की संशोधित करते हैं तो, उस फाइल की किसी अन्य नाम से सेव करने की आवश्यकता होती हैं। ऐसी परिस्थिति में हम Save As विकल्प का उपयोग कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए हमने योगेश नाम के एक वर्ड डॉक्यूमेंट का निर्माण किया है, जिसमें योगेश नामक व्यक्ति का बायोडाटा है

अब हम इसमें कुछ परिवर्तन करके मोहित का बायोडाटा तैयार करते हैं। अब यदि हम Ctrl +S का उपयोग करते हैं तो योगेश से सम्बन्धित सभी जानकारी इस डॉक्यूमेंट से हट जायेगी।

ऐसी परिस्थिति में ‘Save As’ हमारी सहायता करता है, इसके द्वारा हम संशोधित सूचना को एक अलग फाइल के रूप में सेव का सकते हैं।

इस कार्य के लिए हम Alt+F+A शॉर्टकट कुंजी का उपयोग कर सकते हैं या ऑफिस बटन से ‘Save As’ पर क्लिक कर सकते हैं।

PDF के रूप में फाइल को सुरक्षित करना (Saving as PDF Document File)

Saving as PDF Document File of MS Word in Hindi 

पोर्टेबल डॉक्यूमेंट फॉर्मेट (Portable Document Format) या PDF फाइल का निर्माण एम एस वर्ड 2003 तक प्रत्यक्ष रूप से नहीं किया जा सकता था

लेकिन हम एम.एस वर्ड एक PDF का निर्माण सीधे अपने डॉक्यूमेंट से कर सकते हैं। वास्तव में, एम. एस वर्ड में भी यह सुविधा डिफॉल्ट रूप से नहीं है, बल्कि इस सुविधा।

की हम कुछ अतिरिक्त सुविधाओं के रूप में प्राप्त कर सकते है जिन्हें हम ऐडइन्स (add-ins) कहते हैं। इस सुविधा को प्राप्त करने के लिए हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता हैं:-

Click पर जाइये।

डाउनलोड पर क्लिक कीजिए

ओपन हुए डायलॉग बॉक्स में रन पर क्लिक कीजिए

यूजर एग्रीमेंट चेकबॉक्स पर क्लिक कीजिए; फिर कन्टीन्यू (Continue) पर क्लिक कीजिए

आपकी इंस्टालेशन (Installation) प्रक्रिया पूर्ण हो जायेगी। इसके पश्चात् हम अपने डॉक्यूमेंट को PDF के रूप में सुरक्षित करने के लिए, निम्न चरणों का अनुसरण करना चाहिए:

ऑफिस बटन पर क्लिक कीजिए

save पर क्लिक कीजिए ओपन हुए डायलॉग बॉक्स में विस्तारक के रूप में pdf का चयन कीजिए।

सेव पर क्लिक कर कीजिए

कुछ अन्य महत्त्वपूर्ण विस्तारक (Some other important Extension of MS Word in Hindi)

.docx तथा .pdf अतिरिक्त भी एम एस वर्ड 2007 कुछ अन्य विस्तारक भी प्रदान करता है, जिनका उपयोग हम अपनी फाइल को अलगअलग रूपों में सुरक्षित करने के लिए कर सकते हैं। इनमें से कुछ निम्न है:

Word 97-2003 Document: एम एस वर्ड 97 से लेकर एम एस वर्ड 2003 तक एम एस वर्ड का डिफाल्ट प्रारूप .doc था परंतु एम एस वर्ड 2007 का डिफॉल्ट विस्तारक .docx है।

अतः यदि हम वर्ड 2007 में किसी डॉक्यूमेंट का निर्माण करते हैं, तो वह डिफॉल्ट रूप से अपने पिछले किसी भी संस्करण में उपयोग नहीं हो पायेगा।

इसलिए एम एस वर्ड 2007 में यह विस्तारक प्रदान किया गया है, जिसका उपयोग करके हम एम एस वर्ड 2007 में सेव किये गये किसी डॉक्यूमेंट को इसके पिछले संस्करणों में भी उपयोग कर सकते हैं

डॉक्यूमेंट टेम्प्लेट्स (Document Templates): डॉक्यूमेंट टेम्प्लेट्स का विस्तारक .dotx है टेम्प्लेट्स एक पूर्व निर्धरित अवसंरचना का अनुसरण करके हमारे डॉक्यूमेंट का निर्माण करता है।

Word 97-2003 Template: वर्ड 2007 टेम्प्लेट्स के लिए यह विस्तारक वर्ड 97-2003 डॉक्यूमेंट की ही तरह कार्य करता है।

रिच टेक्स्ट फॉर्मेट (Rich Text Format) RTF: एक ऐसा विस्तारक है जो लगभग सभी वर्ड प्रोसेसरों में उपयोग हो सकता है।

अतः इस विस्तारक का उपयोग करके हम किसी डॉक्यूमेंट फाइल को किसी भी अन्य वर्ड प्रोसेसर में उपयोग कर सकते उदाहरण के लिए,

मान लीजिए हमनें एम.एस वर्ड में कोई ऐसा डॉक्यूमेंट बनाया है जिसका उपयोग हमें लाइनक्स में करना है, परंतु लाइनक्स में एम एस वर्ड का उपयोग नहीं होता है।

ऐसी स्थिति में हम डॉक्यूमेंट को .rtf विस्तारक के साथ सेव कर देंगे, क्योंकि लाइनक्स में उपयोग होने वाला वर्ड प्रोसेसर एपलिक्सवेयर (Applixware) .rtf का समर्थन करता है।

वेब पेज फॉर्मेट (Web Page Format): इस फॉर्मेट का उपयोग करके हम एम एस वर्ड का उपयोग एक HTML एडिटर के समान कर सकते हैं। अतः हम एम एस वर्ड का उपयोग करके एक वेब पेज का निर्माण कर सकते हैं।

Saving Document in other Formats of MS Word in Hindi

अपने डॉक्यूमेंट को किसी अन्य प्रारूप में सेव करने के लिये निम्न चरणों का अनुसरण कीजिए:

ऑफिस बटन पर क्लिक कीजिए

save या Save As पर क्लिक कीजिए या Ctrl+s शॉर्टकट कुंजी का प्रयोग कीजिए या फिर क्विक एक्सेस टूलबार से सेव टूल पर क्लिक कीजिए

ओपन हुए Save As डायलॉग बॉक्स के Save as type पुल डाउन लिस्ट से उपयुक्त प्रारूप का चयन कीजिए।

Save पर क्लिक कर दीजिए

वर्ड डॉक्यूमेंट को ओपन करना (0pening a Document of MS Word in Hindi)

पहले के निर्मित किसी डॉक्यूमेंट को ओपन करके उसमें कार्य करने के लिए हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता है :

ऑफिस बटन पर क्लिक कीजिए

ओपन (Open) पर क्लिक कीजिए या फिर Ctrl+O शॉर्टकट कुंजी का प्रयोग कीजिए।

ओपन हुए Open डायलॉग बॉक्स में से फाइल का चयन कीजिए

(उसपर क्लिक करके)

open पुश बटन पर क्लिक कीजिए

आपका डॉक्यूमेंट आपको कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखायी देने लगेगा

डॉक्यूमेंट प्रीव्यू देखना (Previewing a Document of MS Word in Hindi)

किसी डॉक्यूमेंट का प्रिन्ट प्राप्त करने से पहले उस डॉक्यूमेंट का प्रीव्यू या प्रिन्ट प्रीव्यू देख लेना एक सुविधाजनक प्रक्रिया है, क्योकि इससे हमें यह पता चलता है

कि हमारे डॉक्यूमेंट का प्रिन्ट हमें कागज पर किस प्रकार से प्राप्त होगा। इससे हमें हमारे डॉक्यूमेंट के मार्जिन (Margin), आकार (Size) आदि का पता चलता है। अपने डॉक्यूमेंट का प्रीव्यू देखने के लिए हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता है:

ऑफिस बटन पर क्लिक कीजिए

प्रिंट पर जाइये तथा प्रिन्ट प्रीव्यू (Print Preview) पर क्लिक कीजिए।

ओपन हुई प्रिन्ट प्रीव्यू विंडो में हमें निम्न विकल्प मिलेंगे

Print: इस टूल में प्रिन्ट बटन तथा इससे सम्बन्धित विकल्प मिलते हैं।

Page Setup: इस टूल में हमें मार्जिन, ओरिएन्टेशन (Orientation), आकार (Size) से सम्बन्धित विकल्प मिलते हैं।

Zoom: इस टूल के विकल्पों का उपयोग करके हम अपने डॉक्यूमेंट के आकार से सम्बन्धित कार्य करते हैं, जैसे डॉक्यूमेंट के आकार को बढ़ाकर या घटाकर देखना

A Preview: इस टूल में हमें प्रीव्यू से सम्बन्धित विकल्प मिलते हैं, जैसे रूलर (Ruler) तथा मैग्निफायर (Magnifier) चेक बॉक्स और क्लोज प्रिन्ट प्रीव्यू बटन आदि।

डॉक्यूमेंट का प्रिन्ट प्राप्त करना (Printing a Document of MS Word in Hindi)

Printing a Document of MS Word in Hindi 

यह कार्य किसी भी वर्ड प्रोसेसिंग सिस्टम के लिए गैरजरूरी परंतु अति महत्वपूर्ण कार्य होता है। गैरजरूरी इसलिए क्योकि यह आवश्यक नहीं है कि हम अपने सभी डाक्यूमेंट्स का प्रिन्ट प्राप्त करें,

लेकिन अति महत्वपूर्ण इसलिए क्योकि यदि हमें अपना डॉक्यूमेंट किसी ऐसे व्यक्ति के समक्ष प्रस्तुत करना है, जो कि कम्प्यूटर के समक्ष नहीं है तो उस डॉक्यूमेंट का प्रिन्ट प्राप्त करना परम आवश्यक होता है।

प्रिन्टर द्वारा डॉक्यूमेंट के इस आउटपुट को हम प्रिन्ट आउट या हार्डकॉपी कहते हैं (नोट: कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखायी देने वाले डॉक्यूमेंट के आउटपुट को सॉफ्टकॉपी कहते हैं।

अपने डॉक्यूमेंट का प्रिन्ट आउट प्राप्त करने के लिए हमें निम्न चरणों का अनुसरण करना पड़ता है:

ऑफिस बटल पर क्लिक कीजिए

ओपन हुए मेन्यू से प्रिन्ट पर जाइये तथा प्रिन्ट डॉक्यूमेंट पर क्लिक कीजिए या Ctrl+P शॉर्टकट कुंजी का प्रयोग कीजिए

ओपन हुए Print Document डॉयलॉग बॉक्स में हमें निम्न विकल्प मिलेंगे :

Printer: इस खण्ड में हमें प्रिन्टर का नाम, उसकी दशा (Status), प्रकार ( Type) तथा स्थिति (Where) जैसे विकल्प मिलते हैं।

Page Range: इस खण्ड में हम यह निर्धारित करते है कि अपने डॉक्यूमेंट के सभी पेजों का प्रिन्ट प्राप्त करना है (All), वर्तमान समय में स्क्रीन पर दिखायी दे रहे पेज का (Current Page) या फिर किसी निश्चित पेज का (Selected Page)

Copies: इस खण्ड में हम यह निर्धारित करते हैं कि हमें अपने डॉक्यूमेंट के प्रत्येक पेज की कितनी प्रतियाँ चाहिए।

Print what: इस विकल्प का प्रयोग करके आप यह निर्धारित कर सकते हैं कि आप वर्ड डॉक्यूमेंट से क्या प्रिन्ट करना चाहते है डॉक्यूमेंट स्टाइल, डॉक्यूमेंट प्रॉपर्टीज आदि।

Print: इस विकल्प में आप यह सेट कर सकते है कि आप पूर्ण डॉक्यूमेंट को प्रिन्ट करना चाहते हैं या रेंज के सम (Even) पेजों को

या फिर रेंज के विषम (Odd) पेजों को।

उपरोक्त विकल्पों को सेट करने के बाद OK पर क्लिक कर दीजिए।

आपको आपके डॉक्यूमेंट का आउटपुट प्रिन्टर द्वारा प्राप्त हो जायेगा। इसके अतिरिक्त हम क्विक एक्सेस टूलबार या Alt+6 का उपयोग करके भी प्रिन्ट आउट प्राप्त कर सकते हैं,

परंतु इनका उपयोग करने पर हमें प्रिन्ट डायलॉग बॉक्स प्राप्त नहीं होगा बल्कि हमें हमारे डॉक्यूमेंट के सभी पेजो की एक प्रति का प्रिन्ट प्राप्त होगा।

https://youtu.be/YHSLkNzLuqc

ये भी पढ़ें:-

मैं आसा करता हूँ की आपको बहुत सारी जानकारी मिली होगी माइक्रोसॉफ्ट वर्ड (MS Word in Hindi) के बारे में और अब आप प्रैक्टिकल कर के भी देख सकते हैं ताकि आपको और भी अच्छे से समझ आजाएगा अगर आप और भी जानना चाहते हैं डिटेल में तो यहाँ क्लिक करें।।