If you are searching for Hindi Poem for Kids then you’re at the right place.  Hindi poem for kids which is really interesting and you can easily read it.

 

Hindi Poem for kids:- If you are searching for Hindi Poem for Kids then you’re at the right place. Here I’m sharing with you the top 11 Hindi poems for kids which is really interesting and you can easily read it. These poems are especially for kids who are learning Hindi I’m sure it will help them.

  1. नील पर Hindi Poem for kids

आसमान से हँसतीगाती नील परी भू पर आती है, आकर के नन्ही बगिया को खुशबू से यह भर जाती है।

जादूगरसी छड़ी लिए है बैठी बच्चों के सिरहाने, इसके आते ही फूलों से झरने लगते मीठे गाने।

इसकी मुसकानें मोती हैं और चाँद है इसकी बिंदिया, बच्चे इसको खूब जानतेकहते हैंलो आई निंदिया!

Related:-

  1. मैं भी स्कूल में जाऊंगा Hindi Poem for kids

मम्मी मुझको बस्ता ले दो मैं भी स्कूल में जाऊंगा, A B C D पढूंगा मैं भी भी पढ़ कर आऊंगा

सीखूंगा बातें नयी और आकर सब को बताऊंगा, मम्मी मुझको बस्ता ले दो मैं भी स्कूल में जाऊंगा।

पढ़ लिख कर इक दिन मैं भी नाम बहुत ही कमाऊंगा होगा गर्व तुझे उस दिन जब देश के काम, मैं आऊंगा,

कलाम, भगत सिंह जैसा बन कर इस जग में मैं छा जाऊंगा मम्मी मुझको बस्ता ले दो मैं भी स्कूल में जाऊंगा।

Related:-

  1. बांसुरी वाला Hindi Poem for kids

बात सात सौ साल पुरानी सुनो ध्यान से प्यारे हैम्लिन नामक एक शहर था वीजर नदी किनारे।

यूं तो शहर बहुत सुन्दर था हैम्लिन जिसका नाम मगर वहां के लोगों का हो गया था चैन हराम।

इतने चूहे इतने चूहे गिनती हो गई मुश्किल जिधर भी देखो जहां भी देखो करते दिखते किल बिल।

बाहर चूहे घर में चूहे दरवाजे और दर में चूहे खिड़की और आलों में चूहे थालों और प्यालों में चूहे।

ट्रंक में और संदूक में चूहे फौजी की बंदूक में चूहे अफसर की गाड़ी में चूहे नौकर की दाढ़ी में चूहे। 

पूरब पश्चिम उत्तर दक्षिण जिधर भी देखो चूहे ऊपर नीचे आगे पीछे जिधर भी देखो चूहे।

दुबले चूहे मोटे चूहे लंबे चूहे छोटे चूहे काले चूहे गोरो चूहे भूखे और चटोरो चूहे।

चूहे भी वो ऐसे चूहे बिल्ली को खा जाए चीले जान बचाएं।

चूहो से घबराकर राजा ने किया ऐलान जो उनसे पीछा छुटवाये पाये ढ़ेर ईनाम।

सुनकर ये ऐलान वहां पर पहुंचा एक मदारी मस्त कलंदर नाम था उसका मुंह पर लंबी दाढ़ी।

झोले से बंसी निकालकर मीठी तान बजाई जिसको सुनकर चूहा सेना दौड़ी दौड़ी आई।

कोनों खुदरों से निकले और निकले महल अतारी से नाले नाली से निकले और निकले बक्सपिटारी से।

घर की चौखट को फलांगकर आये ढेरों चूहें छत के ऊपर से छलांग कर आये ढ़ेरों चूहे।

लाखों चूहों का जलूस चल पड़ा मदारी के पीछे जैसे कोई डोरी उनको लिये जा रही हो खींचे।

आगे आगे चला मदारी पीछो चूहे सारे चलते चलते वो जा पहुंचे वीज़र नदी किनारे।

वहां पहुंच कर भी ना ठहरा वो छह फुटा मदारी उतर गया दरिया के अन्दर

पीछे पलटन सारी। ले गया मदारी सब चूहों को वीज़र नदी के अंदर एक भी जिंदा नहीं बचा सब डूबे नदी के अन्दर।

चूहों को यूं मार मदारी राजा के घर आया अपने इनाम का वादा उसको फौरन याद दिलाया।

राजा बोलाः क्या कहते हो मिस्टर मस्त कलंदर चूहे तो खुद ही जा डूबे वीज़र के अन्दर।

कौन सा तुमने कद्दू में मारा है ऐसा तीर जिसके कारण पुरस्कार दे तुमको मस्त फकीर

देखके ऐसी मक्कारी वो रह गया हक्काबक्का उसके भोले मन को इससे लगा जोर का धक्का।

गुस्से से हो आगबबूला महल से बाहर आया थैले से बंसी निकाल कर सुंदर राग बजाया। सुनकर उसकी बंसी की धुन बच्चे दौड़े आये।

लम्बे बच्चे, छोटे बच्चे दुबले बच्चे, मोटे बच्चे दूर के बच्चे, पास के बच्चे साधारण और खास से बच्चे।

हंसते बच्चे, रोते बच्चे जाग रहे और सोते बच्चे गांव, मुहल्ले, डगर के बच्चे। लाखों बच्चों का जमघट

चल पड़ा मदारी के पीछे जैसे कोई जादू, उनको लिए जा रहा हो खींचे। ले गया दूर शहर से उनको

वो छह फुटा मदारी नहीं रोक पाई बच्चों को नगर की जनता सारी। बिगड़ गयी हैम्लिन की जनता

पहुंची राजा के द्वारे बोलीः तेरी बेईमानी से बच्चे गए हमारे। नहीं चाहिए ऐसा राजा करता जो मनमानी

वादा करके झुठला देता ये कैसी बेईमानी। राजा से गद्दी छीनी दे डाला देश निकाला और हैम्लिन का राज पाट

खुद जनता ने ही संभाला। नये राज ने मस्त मदारी को फौरन बुलवाया माफी मांगी और मुंहमांगा

पुरस्कार दिलवाया। सारे बच्चे वापस पहूंचे अपने अपने घर पे पूरे शहर में खुशी मनी और दीये जले दर दर पे।

4.अच्छे बच्चे Hindi Poem for kids

हम बच्चे अच्छे स्कूल के, पक्के अपने हैं असूल के। हिलमिलकर सब संग में पढ़ते हैं, दूरी रखते क्रूर से।

कदम बढ़ाकर पथ पे चलेंगे, बुरे कर्म से सदा डरेंगे।> विजय पताका हम गाड़ेंगे, लोग देखेंगे दूर से।

कटु वचन हम बोलेंगे, सच की तराजू पर तौलेंगे।> थाल सजा के करेंगे पूजा, जलेंगे दीप कपूर के।

  1. प्यारी ति‍तली Hindi Poem for kids

रंगबिरंगी तितली आई। चंचल नैनों वाली तितली चमचम तारों जैसी छाई।

 काश हम भी तितली होते, हमारे भी रंगबिरंगे पंख होते।

हम भी आसमान पर छा जाते, हम भी फूलों पर मंडराते। 

तितली आई, तितली आई, रंगबिरंगी ति‍तली आई।

  1. सीखो Hindi Poem for kids

फूलों से तुम हँसना सीखो, भंवरों से नित गाना।

वृक्षों की डाली से सीखो, फल आए झुक जाना। 

सूरज की किरणों से सीखो, जगना और जगाना।

लता और पेड़ो से सीखो, सबको गले लगाना।

दूध और पानी से सीखो, मिल जुलकर सबसे रहना।

अपनी प्रिय पृथ्वी से सीखो, हँस हँस सब कुछ सहना।

  1. नटखट बच्चे Hindi Poem for kids

हम है बच्चे, हे हम थोडेसे कच्चे। बोलने में हम सच्चे, लोग मानते हमे पक्के।

पानी में हम खेलते है, धूप में भी हम खेलते है। तंग आकर माँबाप डाँटते है,

पर हमे किसीका फिखर है। खेलना हमारा जिवन, शरारत ही हमारा कर्म।

भोलेभाले है हम यार, तंग करनेसे होता है प्यार। आपस में हम मिलकर रहते,

खेलतेकुदते हँसतेहँसते। जब कोई हमे डराते, तब हम जोरजोर से रोते।

  1. अच्छे बच्चे Hindi Poem for kids

कहना हमेशा बड़ो का मानते माता पिता को शीश नवाते, अपने गुरुजनों का मान बढ़ाते

वे ही बच्चे अच्छे कहलाते। नहाधोकर रोज शाला जाते पढ़ाई में सदा अव्वल आते वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

कभी किसी से झगड़ा करते बात हमेशा सच्ची कहते, ऊंचनीच का भाव लाते वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

कठिनाइयों से कभी घबराते हमेशा आगे ही बढ़ते जाते, मीठी बातों से सबका मन बहलाते वे ही बच्चे अच्छे कहलाते।

  1. बच्चों की कविता Hindi Poem for kids

पापा जी का डंडा गोल, मम्मी जी की रोटी गोल, नानी जी की ऐनक गोल,

नाना जी का पैसा गोल, बच्चे कहते लड्डू गोल, मैडम कहतीं दुनिया गोल।

  1. मौसी और खिलौने Hindi Poem for kids

गौरव की मौसी आई, गिनकर चार खिलौने लाई।

गौरव दौड़ादौड़ा आया, पूड़ी और कचौड़ी लाया।

  1. मम्मी Hindi Poem for kids

परीलोक की कथाकहानी हँसकर मुझे सुनातीं मम्मी, फूलों वाले, तितली वाले गाने मुझे सिखातीं मम्मी।

खीर बने या गरम पकौड़े पहले मुझे खिलातीं मम्मी, होमवर्क पूरा कर लूँ तोटॉफीकेक दिलातीं मम्मी।

काम अगर मैं रहूँ टालता तब थोड़ा झल्लातीं मम्मी, झटपट झूठ पकड़ लेती हैं मनहीमन मुसकातीं मम्मी।

रूठूँ तो बस बात बनाकर पल में मुझे मनातीं मम्मी, बड़ा लाड़ला तू तो मेराकहकर मुझे रिझातीं मम्मी।

All the above Hindi poem for kids are very short and simple to learn which help children to understand Hindi very easily and these Hindi poem for kids are with moral values which give them lessons in life. all these poems come with their featured images which help children to engage in it.

To Know Some Great Stuff Do Visit QuerClubs

To Know Some Great Stuff Do Visit QueryPlex

To Know Some Great Stuff Do Visit SarkariXam